स्वतंत्रता के बाद अब कोई राज नही है, अमोल कोल्हे का उदयनराजे पर निशाना

दमनकारी सत्ता के खिलाफ जो कार्य किया जाता है वह विद्रोह होता है, लेकिन सत्ता में जाने के लिए, यह केवल फितूरी है, जिसमें एनसीपी सांसद डॉ अमोल कोल्हे ने हार मानने वाले नेताओं को निशाना बनाया। आजादी के बाद, सभी संस्थान बर्बाद हो गए हैं और अब कोई राजा नहीं है, उन्होने उदयनराजे का नाम बिना लिये निशाना बनाया.

अमोल कोल्हे ने कहा गणेशोत्सव/ विसर्जन समाप्त होने के बाद इसके बारे में बात करने की कोई आवश्यकता नहीं है. गणेश नाइक जो की भाजपा के रस्ते पर है उनपर अमोल कोल्हे ने टीका की. नवी मुंबई में हुई राष्ट्रवादी कांग्रेस की बैठक में डॉ अमोल कोल्हे बात कर रहे थे।

About the author

Sachin

Hey there !

View all posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *